Monday, October 30, 2006

हे अंग्रेजी देवी मां!

सुधीश पचौरी:

मैकाले को भारत में आधुनिकता का जनक मानते हैं। अंग्रेजी आई तो संस्कृत, अरबी, फारसी का कंट्रोल ढीला हुआ, जो उस वक्त वर्चस्वकारी इलीट की भाषाएं थीं। मैकाले ने आधुनिक विज्ञानों को पढ़ाने पर जोर दिया। यदि ऐसा न किया होता तो भारत आज नेपाल या अफगानिस्तान की तरह होता।

सभी किस्म के ग्लोबलाइजेशन विरोधी, स्वदेशीवादी, भारतवादी, स्थानीयतावादी, हिंदीवादी आदि लॉर्ड मैकाले को अंग्रेजी कल्चर का जनक मानकर ब्रिटिश साम्राज्यवाद का सबसे घटिया नायक मानते हैं, जिसने यहां गोरे अफसर की जगह ब्राउन बाबू पैदा कर दिए। इस तरह अंग्रेजी सभ्यता-संस्कृति यहां अंग्रेजों के जाने के बाद भी रह गई और आजकल तो वही चारों ओर फैल रही है। हाय!

Comments on "हे अंग्रेजी देवी मां!"

 

Blogger Pushkar Kathayat said ... (3:12 AM) : 

tcs ultimatix helpdesk and mobile number is also here portal hope this will help you.

 

post a comment